कोविड-19 के दौरान राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बीच जूमकार ने मदद के लिए की पहल

ग्लोबल हरियाणा न्यूज़ / नई दिल्ली / हरजिन्दर शर्मा /30 मार्च, 2020: सरकारी अधिकारियों, बैंकरों, स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों, वितरण कर्मचारियों की मोबिलिटी से जुड़ी चुनौतियों को कम करने, ज़ूमकार पूरी तरह से स्वच्छ कारों के लिए बिना चाबी प्रवेश सुनिश्चित कर रहा है

भारत के सबसे बड़े सेल्फ-ड्राइव मोबिलिटी प्लेटफॉर्म जूमकार ने लॉकडाउन के दौरान इमरजेंसी ट्रांसपोर्ट संकट को कम करने के लिए कदम बढ़ाया है। जूमकार ने सरकार के शटडाउन आदेश के कारण अपनी कारों के बेड़े को खड़ा कर दिया है लेकिन कंपनी अपने चुनिंदा वाहनों का इस्तेमाल बैंकर्स, स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों और वितरण कर्मचारियों सहित फ्रंटलाइन वर्कफोर्स के लिए इमरजेंसी मोबिलिटी  सुनिश्चित करने के लिए कर रही है।

जूमकार उन विभिन्न संगठनों के साथ साझेदारी कर रहा है, जो इस लॉकडाउन अवधि में आवश्यक सेवाओं में शामिल हैैं ताकि उनके कर्मचारियों को सुरक्षित मोबिलिटी विकल्प प्रदान किया जा सके। यह सेवा सुनिश्चित करती है कि ये भागीदार संगठन आवश्यक कर्मियों के परिवहन की बाधाओं को कम करें और वे नागरिकों की इमरजेंसी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हों।

सोशल डिस्टेंसिंग की बढ़ती आवश्यकता को देखते हुए जूमकार के सेल्फ-ड्राइव मोबिलिटी सॉल्युशन का कई ग्राहकों ने बार-बार स्वागत किया है। जूमकार अपने यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कारों की पूरी तरह से साफ और सफाई सुनिश्चित कर रहा है। प्रमुख बैंकों के कर्मचारियों के साथ काम करने के अलावा, जूमकार किराना स्टोर चेन और अस्पताल के कर्मचारियों को भी मोबिलिटी सॉल्युशन प्रदान कर रहा है। मैसूर में सरकारी अधिकारी भी अपनी रोजमर्रा की जरूरतों के लिए जूमकार का चयन कर रहे हैं।

इस नए घटनाक्रम पर टिप्पणी करते हुए जूमकार के सह-संस्थापक और सीईओ ग्रेग मोरन ने कहा, “भारत और दुनियाभर में कोरोनोवायरस का प्रकोप हमारे समाज और अर्थव्यवस्था के लिए एक अस्तित्व संबंधी खतरा बन गया है। इस अभूतपूर्व और चुनौतीपूर्ण समय का सामना करने के लिए, निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों को एक साथ आने और व्यावहारिक, व्यापक समाधान प्रस्तुत करने की आवश्यकता है जो समाज की वर्तमान आवश्यकताओं के साथ प्रतिध्वनित होते हैं। इसी कड़ी में ज़ूमकार में हम व्यक्तिगत और पूरी तरह से स्व-चालित वाहनों के माध्यम से सुरक्षित परिवहन विकल्प सुनिश्चित कर रहे हैं। सरकारी अधिकारियों से लेकर स्वास्थ्य कर्मचारियों तक, हमने कई इमरजेंसी कार्यों में मांग देखी है। राष्ट्र के सामने आई इस अभूतपूर्व चुनौती में जनता की मदद के लिए हम सुरक्षित, विश्वसनीय और सस्ती सेल्फ-ड्राइव मोबिलिटी सॉल्युशन देने पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखेंगे। ”

कारों को पूरी तरह से साफ रखने और स्वच्छता के उच्चतम स्तर को सुनिश्चित करने के अलावा जूमकार कारों के लिए 100% की-लेस एक्सेस प्रदान करता है। इस प्रकार किसी भी मानवीय संपर्क के बिना ग्राहक जूमकार वाहनों का उपयोग कर सकते हैं।

जूमकार के बारे में 

जूमकार ने 2013 में कार शेयरिंग सेवाओं की शुरुआत के साथ भारत का पहला सेल्फ-ड्राइव मोबिलिटी प्लेटफॉर्म होने का गौरव प्राप्त किया और आज अपने बेड़े में 10,000 से अधिक कारों के साथ सेल्फ-ड्राइव स्पेस में मार्केट लीडर है। मोबाइल अनुभव पर मजबूत फोकस के साथ जूमकार यूजर्स को घंटे, दिन, सप्ताह या महीने के हिसाब से कारों को किराए पर लेने की अनुमति देता है। बैंगलोर में मुख्यालय वाले जूमकार में 250 से अधिक लोगों की टीम काम करती है और यह पूरे भारत में 45+ शहरों में संचालित हो रहा है। 2018 में जूमकार ने अपने शेयर्ड सब्सक्राइबर मोबिलिटी मॉडल के लॉन्च के साथ कारों के लिए भारत का पहला पीयर-2-पीयर आधारित बाजार पेश किया और वर्तमान में इस स्पेस में 90% से अधिक मार्केट शेयर पर कब्जा जमाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *