बजट में युवाओं व किसानों के हाथ खाली : तरुण तेवतिया 

ग्लोबल हरियाणा न्यूज़ / फरीदाबाद : मोदी सरकार ने शुक्रवार को अपनी दूसरी पारी का पहला आम बजट पेश किया है। यह बजट पूरी तरह से निराशाजनक है। मीडिल क्लास, युवाओं व किसानों के लिए बजट में कुछ नहीं रखा गया है। यह कहना है भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता तरुण तेवतिया का। उन्होंने कहा कि आम बजट में रोजगार देने की बात को सरकार पूरी तरह भूल गई है। जबकि इस पर बेरोजगार दर काफी बढ़ी हुई है। 

तरुण तेवतिया ने कहा कि पिछली बार जब मोदी सरकार सत्ता में आई थी, तो उस समय हर साल 2 करोड़ रोजगार देने की बात कही गई थी। उस हिसाब से अभी तक देश में 10 करोड़ नए रोजगार दिए जाने थे। सरकार ने रोजगार तो दिए नहीं, उल्टा लोगों को बेरोजगार करने का काम किया है। यही कारण है कि देश में बेरोजगारी दर अपने चरम पर है। बजट में युवाओं को रोजगार देने के बारे में कोई बात सरकार की तरफ से नहीं कही गई है। वहीं अगर किसानों की बात करें तो किसानों के लिए भी बजट में कुछ खास नहीं किया गया है। सरकार दावा करती है कि 2022 तक किसानों का आय दोगुणा कर दी जाएगी, लेकिन जब बजट में ही किसानों को कुछ नहीं दिया जाता, तो उनकी आय दोगुणा कैसे होगी, यह समझ से परे है। फरीदाबाद की बात करें तो यह शहर प्रदूषण के मामले में देश के टॉफ थ्री शहरों में शामिल है। प्रदूषण से निपटने के लिए सरकार ई वाहनों पर जोर दे रही है। ई वाहन खरीदने वालोें को हाउसिंग लोन पर छूट दी जाएगी और उस पर जीएसटी भी 12 प्रतिशत से घटा कर 5 प्रतिशत कर दिया है। ई वाहनों पर सरकार जोर तो दे रही है, लेकिन ई वाहनों की उपलब्धता पर कोई ध्यान नहीं है। चुनिंदा कंपनियां ही ई वाहन तैयार कर रही हैं। वहीं इन वाहनों को चार्ज करने के लिए चार्जिंग प्वाइंट भी नहीं हैं। ऐसे में ई वाहनों पर छूट देने का कोई फायदा ही नहीं है। ओवर ऑल देखें तो बजट पूरी तरह से निराशाजनक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *