छह माह के बेटे ने मां को दी अंतिम विदाई

ग्लोबल हरियाणा न्यूज़ / फरीदाबाद / हरजिन्दर शर्मा / 02 अक्टूबर 2021: दिल्ली लाल कूंआ स्थित प्रेम नगर में दहेज के लोभियों ने अपनी 23 वर्षीय बहू को फांसी पर चढाकर मौत के घाट उतार दिया। यह आरोप मृतका की मां और भाईयों ने सुसराल पक्ष के तीन लोगों पर लगाए हैं। पुलिस ने पीडित पक्ष का बयान लेकर भादंस की धारा 498ए, 304बी/34 के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है। पुलिस ने पोस्ट मार्टम करवाकर शव परिजनों के हवाले कर दिया है। परिजनों ने अंतिम संस्कार की रश्म मृतका के छ माह के बेटे से करवाई और बेटे ने रो-रोकर अपनी मां को अंतिम विदाई दी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार फरीदाबाद के ए.सी नगर निवासी शीला देवी ने दिल्ली स्थित थाना पुल प्रहलाद पुर पुलिस को दी शिकायत में बताया उन्होने अपनी बेटी पूजा उर्फ मनीषा उम्र 23 वर्ष का विवाह 19-2-2019 को प्रेम नगर लाल कुआं निवासी राजकुमार उर्फ कृष्णा पुत्र राम खिलाडी से हिन्दू रिति रिवाज के अनुसार की थी। उन्होने विवाह में अपनी क्षमता से अधिक कर्ज लेकर दान दहेज दिया था। पीडित पक्ष का आरोप है कि विवाह के 5-6 महीने बाद ही पति राजकुमार, सास सुमित्रा और देवर नरेश ने दहेज के लिए उनकी बेटी को तंग करना शुरू कर दिया था। जब भी मृतका का पति उसे घुमाने लाता मायके लाता था, तो उसे घर से दूर बाटा रोड पर ही छोडकर चला जाता था। शीला देवी ने अपने बयान में कहा जब पूजा गर्भवती थी तब भी उपरोक्त तीनों आरोपियों ने उसे बहुत पीटा था। तब पीडित पक्ष ने अपनी बेटी को अपना परिवार चलाने की सलाह दी, और पुलिस में कोई शिकायत नहीं की थी। उन्होने बताया पूजा का 5-6 माह का बेटा है। उसके जन्म पर जब वह बेटी से मिलने गई थी तब मृतका की सास ने उनको गरीबी के ताने मारकर अपमानित किया था। उन्होने बताया वह सब्जी बेचकर अपने परिवार का गुजारा चलाती हैं। उसके बावजूद एक-एक रूपया बचाकर घटना से लगभग 15 दिन पहले दामाद और बेटी को पचास हजार रूपये दिए थे, ताकि ससुराल पक्ष के लोग उनकी बेटी को ठीक प्रकार से रखें, मगर दहेज के लोभियों ने उनकी बेटी को मौत के घाट उतार दिया। मृतका के भाई संजय और सोनू ने बताया 1 अक्टूबर की शाम को पूजा उनसे बात करना चाहती थी, किन्तु बार-बार फोन कट जाता था। उनको इस प्रकार की घटना का कोई अनुमान नहीं था, लेकिन 2 अक्टूबर की सुबह जब उनको पूजा की मौत का समाचार मिला तो उनके पैरों से जमीन खिसक गई। सोनू ने अपने बयान में बताया उनकी बहन की सास सुमित्रा अपने दोनों बेटों राजकुमार और नरेश से उनकी बहन को बहुत प्रताडित करवाती थी। वह अपने बेटे की दूसरी शादी करवाना चाहती थी, इसलिए उनकी बहन को जान से मार दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *