महारानी वैष्णोदेवी मंदिर में धूमधाम से संपन्न हुआ सातवां सामूहिक विवाह सम्मेलन

ग्लोबल हरियाणा न्यूज़ /फरीदाबाद : श्री महारानी वैष्णोदेवी मंदिर के तत्वावधान में सातवां सामूहिक विवाह समारोह का भव्य आयोजन किया गया। मंदिर संस्थान में शहर के गणमान्य लोगों की उपस्थिति में सभी जोड़ों ने फेरे लिए। इस भव्य सामूहिक विवाह समारोह की खास बात यह रही कि सभी जोड़ों को सात की बजाए आठ फेरे दिलवाए गए । मंदिर संस्थान के प्रधान जगदीश भाटिया के विशेष आग्रह पर सभी वैवाहिक जोड़ों ने आठवां फेरा देशभक्ति के नाम पर लिया। भारत द्वारा पाकिस्तान के आंतकी ठिकाने पर जोरदार हमले के मद्देनजर इस विवाह सम्मेलन में भी उपस्थित सभी लोगों के भीतर देशभक्ति का जज्बा दिखाई दिया। इसलिए आठवां फेरा हिन्दुस्तान जिंदाबाद व पाकिस्तान मुर्दाबाद के नाम रहा।मंदिर संस्थान द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में सैंकड़ों लोग उपस्थित थे। विवाह आयोजन से पहले शहर में सभी 32 दूल्हों की बारात निकाली गई। जिसमें नाचते गाते बैंड बाजे की साथ दूल्हे व उनके बाराती मंदिर संस्थान में पहुंचे। मंदिर प्रागंण में पहुंचने पर बारातियों का भव्य स्वागत किया गया।इस अवसर पर मंदिर के प्रधान जगदीश भाटिया, पूर्व विधायक चंदर भाटिया, पूर्व पार्षद योगेश ढींगड़ा, गिर्राजदत्त गौड़, वेद प्रकाश कुकरेजा, वेद भाटिया, फकीरचंद कथूरिया हरबंस बांगा, अशोक भाटिया, बलदेव मास्टर, राहुल मक्कड, एसी भाटिया, ललित गुप्ता, आर के जैन, राजा शर्मा, रमेश सहगल, सुरेंद्र गेरा, विनोद पांडे, नेतराम गांधी, खुशीराम, संतोष नारंग, सीमा व बलवीर, बलजीत, अनिल ग्रोवर व प्रीतम ने सभी जोड़ों को आर्शीवाद देकर उनके  सुखद भविष्य की कामना की।मंदिर संस्थान के प्रधान जगदीश भाटिया ने बताया कि महारानी वैष्णोदेवी मंदिर द्वारा प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को सामूहिक परिचय सम्मेलन एवं एक महीने बाद 26 फरवरी को सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन किया जाता है। मंगलवार को आयोजित विवाह सम्मेलन में 32 जोडृ़ों का विवाह करवाया गया। इन सभी वैवाहिक जोड़ों को संस्थान की ओर से परिवारिक जरूरत के मुताबिक यथासंभवन दान दहेज भी दिया गया। जिसमें प्रमुख तौर पर डबल बैड, दो गद्दे, तकिया, कवर, बैडशीट, अलमारी, 51 बर्तनों का सैट, पंखा, आटे का ड्रम, अटैची, 6 साडी, दूल्हे के कपड़े, प्रेस, चूल्हा, कंबल व हाटकेस शामिल हैश्री भाटिया ने कहा कि इस सफल आयोजन में शहर के सभी लोगों का योगदान रहता है। इन लोगों के सहयोग से गरीब कन्याओं का विवाह संपन्न हो पाता है। उन्होंने इस सफल एवं पुण्य कार्य के लिए शहर के सभी लोगों का आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *