विश्वविद्यालय में शोध तथा शोधकर्ताओं को दिया जायेगा प्रोत्साहनः प्रो. सुशील कुमार तोमर

– एलुमनाई एसोसिएशन ने नवनियुक्त कुलपति से शिष्टाचार भेंट की तथा अभिवादन किया
– पूर्व छात्रों के विश्वविद्यालय के साथ मजबूत जुड़ाव की कुलपति ने सराहना की

फरीदाबाद, 25 फरवरी – जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के कुलपति प्रो. सुशील कुमार तोमर ने विश्वविद्यालय में अनुसंधान को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा शोधकर्ताओं को उभरते प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण अनुसंधान करने के लिए अधिक से अधिक अवसर प्रदान किए जाएंगे।
प्रो. तोमर विश्वविद्यालय की एलुमनाई एसोसिएशन ‘माॅब’ के अध्यक्ष श्री सुखदेव सिंह के नेतृत्व में आये एक प्रतिनिधियों के साथ बातचीत कर रहे थे, जिन्होंने आज उनसे शिष्टाचार भेंट की और कुलपति के रूप में पदभार ग्रहण करने पर उनका अभिवादन किया। इस अवसर पर डीन, प्लेसमेंट, एलुमनाई एवं कॉर्पोरेट अफेयर प्रो. विक्रम सिंह, कुलसचिव डॉ. एस.के. गर्ग और निदेशक, एलुमनाई एवं कॉर्पोरेट अफेयर डॉ. संजीव गोयल भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
कुलपति ने ‘माॅब’ प्रतिनिधियों द्वारा विश्वविद्यालय एवं उद्योग के बीच जुड़ाव और उद्योग उन्मुख अनुसंधान को बढ़ावा देने को लेकर रखे गए विचार की सराहना की। प्रो. तोमर, जो खुद एक प्रबुद्ध शोधकर्ता भी हैं, ने कहा कि उनका मानना है कि शोध समाधान आधारित होने चाहिए और इसका लाभ समाज को पहुंचाना चाहिए। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा पीएचडी के शोध कार्यों की प्रस्तुति (सबमिशन) से पहले शोध कार्य का प्रस्तुतिकरण (प्रेजेंटेशन) औद्योगिक प्रतिनिधित्व वाली तकनीकी समिति के समक्ष करने का प्रावधान कर सकता है, जिससे शोध कार्यों का व्यवहारिक अनुप्रयोग बढ़ेगी।
इससे पहले, माॅब अध्यक्ष श्री सुखदेव सिंह ने एसोसिएशन के बारे में संक्षिप्त परिचय दिया। उन्होंने बताया कि एलुमनाई एसोसिएशन का गठन वर्ष 1985 में लगभग 70 सक्रिय सदस्यों के साथ हुआ था और अब इसके 10 हजार से अधिक सदस्य हैं जो डिजिटल रूप से जुड़े हुए हैं। माॅब के सचिव श्री अनिल भारद्वाज ने अवगत कराया कि विश्वविद्यालय के छात्रों को सहयोग देने के अलावा एसोसिएशन का विश्वव्यापी नेटवर्क है जो अमेरिका, इंग्लैंड और मध्य-पूर्व के देशों में सक्रिय उप-समूहों के रूप में एसोसिएशन के सदस्यों को व्यावसायिक और व्यक्तिगत सहयोग प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने कुलपति से विश्वविद्यालय को अनुसंधान के क्षेत्र में उत्कृष्टता केंद्र बनाने की दिशा में काम करने का आग्रह किया। एसोसिएशन ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों की मदद करने की अपनी प्रतिबद्धता भी व्यक्त की और विश्वविद्यालय को भविष्य में पूर्ण सहयोग देने का आश्वासन दिया।
कुलपति ने विश्वविद्यालय के साथ पूर्व छात्रों के मजबूत जुड़ाव की सराहना की, और शिष्टाचार मुलाकात के लिए एसोसिएशन के पदाधिकारियों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर उपस्थित एसोसिएशन के पदाधिकारियों में श्री अनिल कुमार भारद्वाज, श्री अशोक नेहरा, श्री मोहित वोहरा, श्री अभिषेक, श्री सुनील शर्मा, डॉ. सोनिया बंसल और श्री मनीष प्रधान भी शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *