प्रशिक्षण के लिए जॉब रोल-2 के अंतर्गत एएमआई सिस्टम डिजाइन और कार्यक्रम प्रबंधन पर पुस्तिका का किया विमोचन किया : ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह

-एनपीटीआई द्वारा ऊर्जा के क्षेत्र मे बेहतर किए गए
800 मेगावाट थर्मल पावर प्लांट सिम्युलेटर एवं एक बहु-कार्यात्मक सिम्युलेटर राष्ट्र को समर्पित किए : कृष्णपाल गुर्जर
फरीदाबाद, 02 अप्रैल। विद्युत तथा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह ने एनपीटीआई के स्थापना दिवस के अवसर पर 01 अप्रैल 2022 को साय  राष्ट्रीय विद्युत प्रशिक्षण प्रतिष्ठान (एनपीटीआई) फरीदाबाद में पधारकर 800 मेगावाट थर्मल पावर प्लांट सिम्युलेटर एवं एक बहु-कार्यात्मक सिम्युलेटर राष्ट्र को समर्पित किए। एनपीटीआई के स्थापना दिवस 1 अप्रैल 2022 के अवसर पर एनपीटीआई कॉरपोरेट कार्यालय फरीदाबाद में विद्युत मंत्रालय भारत सरकार की ओर से राष्ट्रीय विद्युत प्रशिक्षण प्रतिष्ठान का आयोजन किया गया, जिसमें विद्युत एवं नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। इस अवसर पर उनके साथ विद्युत एवं भारी उद्योग राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहे।
विद्युत सचिव आलोक कुमार, अपर सचिव (टीएण्डआर) एस.के.जी. रहाटे, अपर-सचिव विद्युत मंत्रालय वी.के. देवांगन, महानिदेशक एनपीटीआई डा. तृप्ता ठाकुर, सीएमडी एनएचपीसी अभय कुमार सिंह, सीएमडी एनटीपीसी गुरदीप सिंह की गरिमामयी उपस्थिति में आर. के. सिंह द्वारा एक वरिष्ठ कार्यपालक हॉस्टल का भी उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर विद्युत क्षेत्र के अनेक विशिष्ट अतिथि भी इस समारोह में शामिल हुए।
भारत सरकार के ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह ने कहा कि वर्ष 2015 में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संकल्प लिया था कि देश के हर गांव और हर मजरे को बिजली  के साथ जोड़ा जाएगा। आज देश के शहरों, गांवों और मजरों में 22 से 23 घंटे बिजली केंद्र सरकार द्वारा दी जा रही है। उन्होंने कहा कि सोलर पावर प्लांट के  न्यू रिटर्निंग सिस्टम में भारत विकसित देशों से भी बेहतर बिजली उत्पादन कर रहा है। आज भारत की संसार में सोलर बिजली उत्पादन में कोई बराबरी नहीं है। उन्होंने कहा कि जितनी दिल एक लाख 12 हजार  मेगावाट बिजली पैदा करके हमने भारत ने विश्व में मिसाल कायम की है। विकसित देश भी एक साथ इतना बिजली उत्पादन नहीं कर पाए। एनर्जी ट्रांसमिशन में हमने  बेमिसाल तरक्की की है। आने वाले समय में संपन्न देशों में भी भारत बिजली सप्लाई करेगा।
विद्युत तथा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह ने अपने संबोधन में उन नए उभरते विद्युत क्षेत्रों में ट्रेनिंग और कैपेसिटी बिल्डिंग की आवश्यकता पर जोर दिया, जहां भारी नुकसान और परिचालन अक्षमता विद्युत क्षेत्र को व्यावसायिक रूप से व्यवहार्य बनाने में सुधार के सभी प्रयासों को विफल कर रही है। भारत सरकार के मंत्री ने स्मार्ट मीटरिंग के क्षेत्र में वितरण कंपनी के अधिकारियों के प्रशिक्षण के लिए जॉब रोल-2 के अंतर्गत एएमआई सिस्टम डिजाइन और कार्यक्रम प्रबंधन पर पुस्तिका का भी विमोचन किया। उन्होंने महानिदेशक एनपीटीआई डा. तृप्ता ठाकुर और उनके समर्पित अधिकारियों की टीम के प्रयासों की सराहना की, जिन्होंने आरडीएसएस कार्यक्रम के अंतर्गत 2-3 महीने की अवधि में 1158 अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया।
उन्होंने साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में कर्मियों को प्रशिक्षित करने और साइबर सुरक्षा के लिए प्रमाणन एजेंसी के रूप में कार्य करने के लिए एनपीटीआई के प्रयासों की भी सराहना की। विद्युत मंत्री ने एनपीटीआई कॉरपोरेट कार्यालय फरीदाबाद में विद्युत वितरण में उत्कृष्ट केंद्र की स्थापना के लिए सहायता अनुदान राशि की घोषणा की।
केंद्रीय विद्युत एवं भारी उद्योग राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि एनपीटीआई हाईटेक बिजली संयंत्रो में  सिमुलेटर,मॉडल स्पॉटेड मल्टीपरपज, सुपरक्रिटिकल और आधुनिक प्रयोगशालाओं में तथा मल्टीफंक्शन सब हाइड्रो व अन्य ऑपरेशन शामिल है। एनपीटीआई ने 360000 युवाओं को पावर ट्रेनिंग देकर एक मिसाल कायम की है। यह ट्रेनिंग सेंटर एक दुनिया में अलग ट्रेनिंग सेंटर है। कर्मचारियों और अधिकारियों के साथ बेहतर तालमेल करके अच्छे तरीके से ऊर्जा के क्षेत्र में पीएनटीआई कार्य कर रहा है।
केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि 800 मेगावाट के मल्टी म्यूट छात्रावास राष्ट्र को समर्पित किया है। उन्होंने कहा कि बेंगलुरु दक्षिण एशिया का सबसे ऊर्जा संयंत्र का अनूठा संस्थान है।केन्द्रीय मंत्री ने  एनपीटीआई द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की और किसानों को पराली नहीं जलाने के लिए उन्हें शिक्षित करने तथा बायोमास पर राष्ट्रीय मिशन के तहत बिजली उत्पादन के लिए थर्मल पावर प्लांटों में बायोमास का उपयोग करने के लिए एनपीटीआई को धन्यवाद दिया। एनपीटीआई और बदरपुर, दुर्गापुर, नंगल, नागपुर में स्थित इसके संस्थानों ने किसानों, ताप विद्युत संयंत्रों और पेलेट निर्माताओं के लिए कई कार्यक्रम आयोजित किए हैं।
महानिदेशक डा. तृप्ता ठाकुर ने एनपीटीआई में विभिन्न प्रशिक्षण गतिविधियों पर प्रकाश डालते हुए ई-न्यूजलेटर, जिसे जनवरी 2022 से विभिन्न विद्युत यूटिलिटीज को परिचालित किया गया था, के बारे में सभागार में उपस्थित जनो  को अवगत कराया और न्यूजलेटर मार्च 2022 के अंक को जारी करने के लिए विद्युत मंत्री का धन्यवाद किया। उन्होंने सभी पावर यूटिलिटीज और विद्यार्थियों से एनपीटीआई की सुविधाओं का पूरा उपयोग करने का भी आह्वान किया।
एनपीटीआई के कॉरपोरेट कार्यालय फरीदाबाद की प्रधान निदेशक डा. मंजू माम ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा तथा सभी गणमान्य व्यक्तियों को उनके बहुमूल्य समय और एनपीटीआई को दिए गए समर्थन के लिए धन्यवाद किया। समारोह में कई  अतिथियों और विद्यार्थियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन उप-निदेशक सुश्री भावना चौधरी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *