उतरी हरियाणा को जीतने के लिए दमखम लगा रही है राजनीतिक पार्टीयां—-

ग्लोबल हरियाणा न्यूज़/कुरूक्षेत्र राकेश शर्मा 28 अगस्त चुनाव का शंखनाथ जैसे जैसे बजने का समय आ रहा है वैसे वैसे राजनीतिक पार्टीयों ने अपना अपना दमखम दिखाना शुरू कर दिया है। और हर पार्टी के नेता सक्रिय होकर जनता दरबार में आने जाने लगी है। चुनाव एक ऐसा युद्व होता है जहां हर राजनीतिक पार्टीया संघर्ष करती है और कोई चुनावी वायदों करके जनता की वोट हथियाने का काम करती है लेकिन इसमें यह ये कहना भी कोई अतिशोक्ति नही होगा कि प्रत्याक्षी जहां चुनावी कर्म को करने में कोई कोर कसर नही छोड़ते वही इसका वेाट रूपी फल जनता के हाथ में होता है। और यदि इसी चुनावी दौर के दौरान हरियाणा में चल रही राजनीति की बात की जाए तो आने वाले कुछ ही दिनों में हरियाणा में रैलीयों का दौर शुरू होने वाला है ओर सितम्बर महीनें की शुरूआत में ही कुरूक्षेत्र में चुनावी रैलीयों का शंखनाद बजने वाला है। हरियाणा की राजनीति की शुरूआत करने से पहले सबसे ज्यादा चर्चा में लोकतंत्र सुरक्षा मंच के अध्यक्ष व कुरूक्षेत्र के सासंद राजकुमार सैनी जो कि 2 सितम्बर को ही अपनी नई पार्टी बनाकर हरियाणा की राजनीति में और ज्यादा सक्रिय होने की बात कर रहे है 2 सितम्बर को ही पानीपत में रैली कर जहां लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी नाम की पार्टी का अनावरण करेगे सैनी पहले भी कह चुके है कि वह अपनी अलग पार्टी बनाकर 10 लोकसभा और 90 विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार कर जनता के बीच जाएगी और ओबीसी वर्ग की कितनी वोट लेेने में कितने कामयाब होगे ये समय ही बताएगा।

हरियाणा की राजनीति में जहां पूर्व मुख्यमंत्री भुपेन्द्र सिंह हुड्डा का नाम आता है जिन्होन अपना रथ अबकी बार उतरी हरियाणा की ओर कर दिया है। जहां पिछले चुनावों में काग्रेंस को उतरी हरियाणा में सबसे ज्यादा हार का मुहं देखना पड़ा वही अब काग्रेंस ये गलती अबकी बार दोहराना नही चाहती। और इसी कड़ी के दौरान 9 सितम्बर को पेहवा जनक्रातिं रथ यात्रा करके अपनी ताकत उतरी हरियाणा में दिखाने को बेताब है। जहां इसकी कमान उनके सुपुत्र एंव रोहतक के सासंद दिपेन्द्र सिंह हुड्डा के हाथों में है वही हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भुपेन्द्र सिंह हुड्डा के भरोसेमंद कहे जाने वाले नेता जो हर समय हुड्डा के साथ दिखाई देते है पूर्व सीपीएस प्रल्लाद सिंह गिल्लाखेड़ा ,पूर्व शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल, पूर्व मंत्री हरमिन्द्र सिंह चट्ठा व अन्य कागें्रस के बड़े नेता जो इस रैली को कामयाब करने के लिए तैयार है वही दुसरी और टिकट की मंशा रखने वाले प्रत्याक्षी भी इस रैली में ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने के लिए अपना पसीना बहाते हुए नजर आ रहे है। रथ यात्रा की कमान की बात की जाए तो सांसद दिपेन्द्र हुड्डा पेहवा, शाहाबाद और लाडवा के कई गांव में जाकर रैली को कामयाब करने के लिए नुक्कड़ जनसभाओं के द्वारा भाजपा के द्वारा किये गये झुठे वायदों को बताने का काम करेगे वही जमीनी स्तर पर कार्यकर्ताओं पर काम करने की नसीहत देने की बात कह रहे है। इसी क्रम के दौरान रथ यात्रा को अम्बाला और यमुनानगर जिलों में ले जाकर जनता के बीच में होने की बात हुड्डा दोहरा सकते है। अब देखना होगा कि क्या जीटी रोड की सीटो पर रथ यात्रा के सहारे काग्रेंस फिर से खड़ी होने में कामयाब होगी ये जनता जनार्दन तय करेगी क्योंकि इस दौर में रैलीयों के सहारे किसी रण को जीतना अब इतना आसान नही।

हरियाणा की राजनीति में कुरूक्षेत्र के रण में एक रैली का आगाज 9 सितम्बर नई अनाज मंडी में काग्रेंस विधायक दल की नेता किरण चौधरी के द्वारा किया जा रहा है जहां पहले काग्रेंंस नेता किरण चौधरी हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर के साथ चुनावी मंच पर देखी जाती रही है अबकी बार वह अकेले की कुरूक्षेत्र के रण में रैली करने को अपने आप को तैयार मान रही है अब देखना होगा कि काग्रेंस के दो बड़े नेताओं की चुनावी रैली जो महज 25 किलोमीटर के दायरे में होने जा रही है क्या रंग दिखाएगी और किस रैली में जनता अपना भीड़़ रूपी आर्शीवाद किसको मिलेगा ये ँभी समय बताएगा।

हरियाणा के चुनावी रण में कुरूक्षेत्र की धरा में इनैलो भी शंखनाथ बजा रही है इस चुनावी रेैली में की कमान जहंा विपक्ष के उपनेता व ऐलनाबाद से विधायक अभय चौटाला के हाथों में है और इस रैली का शंखनाद बाबैन के बजा कर इनैलो और बसपा अपनी ताकत दिखाने के लिए बेसब्री ेस इंतजार कर रही है।

जीटी रोड बैल्ट पर अपना अपना कब्जा करने को लेकर जहां हर राजनीतिक पार्टीयों को कुरूक्षेत्र की धरा दिखाई दे रही है वही कुछ समय पहले पिपली में शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल अपनी ताकत दिखा चुके है और हरियाणा में सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने की बात कह चुके है अब देखना होगा कि हरियाणा में सिख समुदाय की वोट किस ओर करवट लेती है और क्या अकाली दल चुनाव में किसी के लिए नुकशान बन सकती है।

इसी दौरान राजनीति के चुनावी शंखनाद में आम आदमी पार्टी भी पूरी तरह से उतरने को तैयार हो गई है और अगले कुछ दिनों में आम आदमी पार्टी के सुप्रीमो व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरङ्क्षवद केजरीवाल भी हरियाणा में सक्रिय होने की बात कह रहे है और लोकसभा की 10 सीटों व विधान सभा की 90 सीटों पर अपने अपने उम्मीदवार उतार कर चुनावों में अन्य दलों की मुसकिलें पैदा करने में कामयाब हो सकते है। हरियाणा के चुनावी रण में सिंतबर में ही अपने दो कार्यक्रम करके आप पार्टी के सुप्रीमों ताल ठोकने को बेताब हो रहे है।

हरियाणा की राजनीति में अब की बार जीटी रोड बैल्ट पर हर राजनीतिक पार्टी की नजर हैै क्योंकि उतरी हरियाणा की जनता ने भाजपा को सबसे ज्यादा वोट रूपी आर्शीवाद देकर जीत दिलवाई लेकिन राजनीतिक दल सक्रिय होकर उतरी हरियाणा की सीटों पर सेंध लगना चाहते है और जनता के बीच में ज्यादा से ज्यादा अपनी जाहिरी दिखाना चाहते है। इसलिए सभी राजनीतिक दलों ने इस चुनावी रण का शंखनाद इसी उतरी हरियाणा से बजाने की तैयारी कर ली है। नेता को तो कर्म करना है और फल जनता के हाथ में अब देखना होगा कि उॅट किस और करवट लेगा ?

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए WWW.GLOBALHARYANA.COM के फेसबुक पेज Email :-globalharyananews24@gmail.com को लाइक करें

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *