8 जनवरी को कर्मचारी व मजदूर राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल करेंगे :सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा

श्रम कानूनों में किए जा रहे मजदूर विरोधी संशोधन और जन सेवाओं के निजीकरण के खिलाफ 8 जनवरी को कर्मचारी व मजदूर राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल करेंगे। जिसमें सभी विभागों, बोर्डों, निगमों, विश्वविद्यालयों, नगर निगमों,पालिकाओं,परिषदों , पंचायती राज संस्थाओं, पंचायत समितियों, सहकारी समितियों और विभिन्न परियोजनाओं में कार्यरत कर्मचारियों के अलावा विभिन्न ट्रेड यूनियनों से जुड़े लाखों कर्मचारी व मजदूर शामिल होंगे। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने इस राष्ट्रव्यापी हड़ताल को सफल बनाने के लिए कमर कस ली है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला प्रधान अशोक कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को जिला कार्यालय में राज्य कार्यकारिणी की मीटिंग आयोजित की गई। जिला सचिव बलबीर सिंह बालगुहेर द्वारा संचालित इस मीटिंग में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री, हरियाणा टूरिज्म कर्मचारी संघ के महासचिव युद्धवीर सिंह खत्री व सीटू के जिला उपाध्यक्ष श्रीपाल सिंह भाटी के अलावा जिला एवं खंड कमेटियों के पदाधिकारियों तथा संघ से संबंधित विभागीय संगठनों के पदाधिकारियों ने भाग लिया। मीटिंग में हड़ताल की तैयारियों को लेकर 8 दिसंबर को ओपन एयर थियेटर सेक्टर-12 में जिला स्तरीय कन्वैंशन करने का फैसला लिया गया है। इस हड़ताल का आह्वान केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों एवं केन्द्र व राज्य सरकार के कर्मचारी संघों की फैडरेशनों ने किया है।
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा व वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री ने राज्य कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार जन सेवाओं का निजीकरण करने पर आमादा है। उन्होंने कहा कि नव उदारवादी आर्थिक नीतियों के कारण आज बेरोजगारी 45 साल में सबसे अधिक है। बेरोजगारी की राष्ट्रीय ओसत दर 8 प्रतिशत है और हरियाणा के बेरोजगारी की दर करीब 28 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि पुरे देश का कर्मचारी पिछले कई सालों से एनपीएस को रद्द कर पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग को लेकर संधर्षरत है। लेकिन केन्द्र सरकार बिल्कुल सुनने को तैयार नही है। उन्होंने कहा कि बीस जुलाई को मुख्यमंत्री व सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के बीच मांगों को लेकर बातचीत हुई थी। इस मीटिंग में मानी हुई मांगों को अभी तक लागू नही किया। उन्होंने एक्स ग्रेसिया रोजगार स्कीम से सेवा व उम्र की शर्त को हटाने, हाऊस रैंट की बढ़ोतरी को जनवरी,2016 से लागू करने,वास्तुविक खर्च पर आधारित कैशलेस मेडिकल सुविधा प्रदान करने, पंजाब के समान वेतनमान देने, ठेका प्रथा समाप्त कर अनुबंध कर्मियों को पक्का करने, पक्का होने तक समान काम समान वेतन और सेवा सुरक्षा प्रदान करने आदि मांगों को प्रमुखता से उठाया। उन्होंने कहा कि सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कर्मचारियों की लंबित मांगों का बातचीत से समाधान करने की मांग की है।
जिला कार्यकारिणी की मीटिंग में  विभिन्न विभागों के नेता खुर्शिद अहमद, गांधी सहरावत, जगदीश चन्द्र, कृष्ण चंद्र, गुरचरण सिंह खाडिया,गिरिश चन्द्र, रमेश चन्द्र तेवतिया, राकेश चिंडालिया, रघबीर सिंह चौटाला, हवा सिंह, मनोज कुमार, सुमित,मदन लाल आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *