पोषण पखवाड़ा – एनीमिया से बचाव के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां एवम फल लें

Faridabad: शिक्षा विभाग के आदेशानुसार राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन एच तीन फरीदाबाद की सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड, जूनियर रेडक्रॉस और गाइडस ने मिलकर प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा की अध्यक्षता में पोषण पखवाड़े के अंतर्गत बालिकाओं के अच्छे स्वास्थ्य के लिए कार्यक्रम आयोजित किया। जूनियर रेडक्रॉस और ब्रिगेड अधिकारी एवम् प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि पोषण एक मूलभूत मानवीय आवश्यकता है और स्वस्थ जीवन जीने के लिए आवश्यक है। एक संतुलित आहार ग्रोथ, विकास और सक्रिय जीवन के लिए महत्वपूर्ण है। हमारे देश में बहुत अधिक संख्या में बालिकाएं और महिलाएं एनीमिया से ग्रस्त है। इस का मुख्य कारण भोजन में हरी पत्तेदार सब्जियां और फलों का पर्याप्त मात्रा में सेवन न करना है। जागरूकता की कमी भी बहुत बड़ी समस्या है। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि प्रत्येक व्यक्ति को भोजन में साबुत एवम् भरपूर अनाज, मौसम के अनुकूल फल, हरी सब्जी, दाल, दूध या दूध के उत्पाद, हरी पत्तेदार एवम फलीदार साग व सब्जियां आदि सम्मिलित करने चाहिए। प्राचार्य मनचंदा ने कहा कि एनीमिया का अर्थ है, शरीर में रक्त की कमी। हमारे शरीर में हिमोग्लोबिन एक ऐसा तत्व है जो शरीर में रक्त की मात्रा बताता है। पुरुषों में इसकी मात्रा 12 से 16 प्रतिशत तथा महिलाओं में 11 से 14 के बीच होना चाहिए। एनीमिया एक गंभीर बीमारी है। इसके कारण महिलाओं को अन्य बीमारियां होने की संभावना और बढ़ जाती है। एनीमिया से पीड़ित महिलाओं की प्रसव के दौरान कठिनाई होने की संभावना सबसे अधिक होती है। एनीमिया के लक्षणों में त्वचा का सफेद दिखना, जीभ, नाखूनों एवं पलकों के अंदर सफेदी दिखाई देना, कमजोरी एवं बहुत अधिक थकावट होना, चक्कर आना- विशेषकर लेटकर एवं बैठकर उठने में बेहोश होना, सांस फूलना तथा हृदयगति का तेज होना और चेहरे एवं पैरों पर सूजन दिखाई देना आदि मुख्य हैं। एनीमिया के उपचार के लिए लौह तत्वयुक्त चीजों का सेवन करें। विटामिन ए एवं सी युक्त खाद्य पदार्थ खाएं गर्भवती महिलाओं एवं किशोरी लड़कियों को नियमित रूप से सौ दिन तक लौह तत्व व फॉलिक एसिड की एक टैबलेट प्रतिदिन रात को खाने खाने के बाद लेनी चाहिए। प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने अध्यापकों अंशुल, रेखा, रेनू, सरोज, संजय मिश्रा, सूबे सिंह, कविता, मौलिक मुख्याध्यापिका पूनम का विद्यालय के किचन गार्डन में छात्राओं को हरी पत्तेदार सब्जियों का महत्व समझाने के लिए और नियमित रूप से सेवन करने के लिए प्रेरित करने के लिए आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *