राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस – फर्स्ट एड का ज्ञान सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण

फरीदाबाद : राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन आई टी तीन फरीदाबाद में प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा की अध्यक्षता में जूनियर रेडक्रॉस, गाइड्स और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड ने राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस पर प्राथमिक चिकित्सा अर्थात फर्स्ट एड के ज्ञान की आवश्यकता के विषय में बताया। भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस की थीम प्रकाशित की जाती है। भारत में नेशनल सेफ्टी डे एक विशेष थीम के साथ मनाया जाता है। इस वर्ष राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस 2022 की थीम है – सुरक्षा संस्कृति के विकास हेतु युवाओं को प्रोत्साहित करें। विद्यालय की जूनियर रेडक्रॉस और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड प्रभारी प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस के संदर्भ में प्रत्येक प्रकार की दुर्घटनाओं सड़क और औद्योगिक सहित सभी दुर्घटनाओं चाहे वह कहीं भी घटित हुई हो  से बचाव के उपायों के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।प्राथमिक चिकित्सा और गृह परिचर्या के नेशनल सर्व मास्टर ट्रेनर रविंद्र कुमार मनचंदा ने जे आर सी छात्राओं को प्राथमिक चिकित्सा के बारे में अवगत करवाते हुए कहा कि घर या बाहर दुर्घटना के पश्चात घायल एवम पीड़ित को तुरंत प्राथमिक सहायता देने से उसकी जीवन रक्षा करना सब से महत्वपूर्ण हो जाता है। ऐसा घायल व्यक्ति जिस का चोट के कारण रक्त बह रहा हो अथवा अचेतन अवस्था में हो, सब से प्रथम प्राथमिक सहायता देने की आवश्यकता होती है। अचेतन अवस्था में प्राथमिक चिकित्सक को डी आर ए बी सी चैक कर के प्राथमिक चिकित्सा के मूलभूत सिद्धांतों के तदानुसार सहायता दी जाती है। रक्त बहने की स्थिति में प्रेशर अर्थात दबाव द्वारा रक्त बहने को बंद किया जाता है। जिस स्थान से रक्त बह रहा है वह से पट्टी द्वारा और यदि पट्टी, रूमाल, साफ कपड़ा आदि उपलब्ध नहीं है तो उंगली द्वारा भी दबाव दे कर रक्त बहना बंद किया जाता है। छात्राओं को न्यूनतम समय में और गोल्डन आवर में घायल व्यक्ति को प्राथमिक सहायता उपलब्ध करवाने, घायल को सांत्वना देने, घायल के घर वालों को सूचित करने और उसे सुरक्षित करने आदि के बारे में बताया गया। प्राचार्य मनचंदा ने सुंदर संयोजन के लिए अध्यापिका अंशुल और जसनीत कौर का आभार व्यक्त किया एवम सभी छात्राओं को प्राथमिक सहायता प्रदान करने में दक्ष होने के लिए प्रेरित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *