MPL ने एक मिसिंग गेम लॉन्च किया

मोबाइल प्रीमियर लीग अभी तक का पहला गेमिंग प्लैटफॉर्म है जिसने मिसिंग लिंक ट्रस्ट द्वारा विकसित एक बहुभाषीय एडवेंचर गेम पेश किया है, जो मानव तस्करी के मुद्दे पर जागरूकता फैलाता है

भारत, 11 अप्रैल, 2022 : विश्व के सबसे बड़े मोबाइल ईस्पोर्ट्स और स्किल गेम प्लैटफ़ॉर्म्‍स में से एक, मोबाइल प्रीमियर लीग (एमपीएल) ने अपने प्लैटफॉर्म पर मिसिंग लिंक ट्रस्ट के साथ मिलकर दुनिया का पहला मानव तस्करी निरोधक गेम शामिल किया है। इस गेम का नाम मिसिंग रखा गया है। गौरतलब है कि मिसिंग लिंक ट्रस्ट एक एनजीओ है जो यौन तस्करी को रोकने के उद्देश्य से जनजागरूकता का निर्माण करने के लिए कला और टेक्‍नोलॉजी का संयोजन करता है।

मिसिंग लिंक ट्रस्ट द्वारा विकसित मिसिंग एक बहुभाषीय संवादात्मक गेम है। इस गेम की अभिकल्पना प्लेयर्स को इस बात का अनुभव कराने के लिए की गई है कि जब किसी महिला या लड़की की तस्करी करके उसे वैश्यावृत्ति की अमानवीय और क्रूर दुनिया में धकेल दिया जाता है तो उस पर क्या गुजरती है। हम जानते हैं कि हर साल लाखों लडकियाँ इस यातना का शिकार होती हैं।

मिसिंग लिंक ट्रस्ट के पास उपलब्ध रिपोर्टों पर आधारित डेटा के पता चलता है कि भारत में हर घंटे दो लड़कियों की तस्करी होती है। मराठी, बंगाली, मलयालम, कन्नड़, पंजाबी, तेलुगु, गुजराती, मैथिली और तमिल भाषा में उपलब्ध यह गेम परिपक्‍व दर्शकों पर लक्षित है। यह गेम लक्षित दर्शकों को मानव तस्करी की अंधेरी दुनिया का अनुभव कराता है और इसके बारे में जागरूकता बढ़ाता है। प्लेयर्स खुद को गुमशुदा व्यक्ति की भूमिका में मानकर मायावी आज़ादी का अपना रास्ता खोजने के लिए खुद के लिए विकल्‍पों की खोज के अलावा जोखिम का आंकलन करते हैं।

मिसिंग गेम “बदलाव के लिए गेम्स’ (गेम्स फॉर चेंज) की विधा के अंतर्गत आता है, जो मानव तस्करी के विरुद्ध संयुक्त राष्ट्र के चार पी के प्रथम ‘पी फॉर प्रिवेंशन’ (रोकथाम) को सुलझाने से सम्बंधित है।

एक अग्रणी वैश्विक गेमिंग प्लैटफॉर्म होने के नाते, एमपीएल का लक्ष्य दुनिया के पहले मानव तस्करी निरोधक गेम को सम्पूर्ण भारत और वैश्विक बाज़ारों में 90 मिलियन यूजर्स के विशाल नेटवर्क तक पहुँचाना है। एमपीएल के प्लैटफॉर्म पर फिलहाल 70 गेम्स हैं और यह विभिन्न विधाओं के गेम्स जोड़कर अपने पोर्टफोलियो का लगातार विस्तार कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *