देख कै हासै, देख कै खासे, बलम मेरा यो जेठया…….

-प्रख्यात हरियाणवी कलाकार गजेंद्र फोगाट के गीतों पर जमकर थिरके पर्यटक
-हरियाणवी गीतों के माध्यम से कार्यक्रम को लगाए चार चांद

सूरजकुंड (फरीदाबाद), 01 अप्रैल। आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में चल रहे 35वें अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले में बड़ी चौपाल पर गुरुवार की रात आयोजित सांस्कृतिक संध्या में हरियाणा के मुख्यमंत्री के ओएसडी (पब्लिसिटी) एवं हरियाणवी सिंगर गजेंद्र फोगाट के गीतों पर दर्शक भी जमकर नाचे। युवा जोशीले कलाकार गजेंद्र ने अपने गीतों के माध्यम से न केवल बेटी बचाने और बेटी पढ़ाने के साथ ही सम्मान की सूचक हरियाणवी पगड़ी के मान सम्मान का भी दर्शकों से आह्वान किया। उनके साथ मंच पर छोटे बच्चों ने भी दर्शक दीर्घा से उठकर जमकर ठुमके लगाए। इससे पूर्व
मुख्य अतिथि एवं त्रिपुरा सरकार में रेजिडेंट कमीश्नर सोनल गोयल ने श्रीमती काजल रूरल इलेक्ट्रिकल कारपोरेशन भारत सरकार की श्रीमती काजल और हरियाणा पर्यटन निगम के एमडी डा. नीरज कुमार की गरिमामयी उपस्थिति में दीप प्रज्वलित कर सांस्कृतिक संध्या का आगाज किया।
सिंगर गजेंद्र फौगाट ने जैसे ही तेरी ग्याला यारी कर ली,चाहे मॉल बनावा कैसा,पर तुलसी जरूर लगावां सां,मैने भाषा तो कई आवैं सै,देसी देसी ना बोलया कर छोरी रै, इस देसी की फैन या दुनिया होरी सै, यारां पै चाम  की जूती, तेरी एडिडास के जूते,तेरे शहर मैं बाजे स्पीकर ,म्हारे गाम मैं भोंके कुत्ते  आदि हरियाणवी गीतों से कला प्रेमियों का खूब मनोरंजन किया।
मुख्यमंत्री हरियाणा के ओएसडी (पब्लिसिटी) गजेंद्र फौगाट ने करीब डेढ़ घंटे तक हरियाणवी के साथ ही पंजाबी और हिंदी गानों की प्रस्तुतियां देकर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया।
उन्होंने हरियाणवी गीतों के जरिए दर्शकों विशेषकर युवा पीढ़ी को अच्छे संस्कार आधारित शिक्षा लेकर कला और संस्कृति  को बढ़ावा देने का आह्वान किया। उन्होंने कार्यक्रम के बीच-बीच में हरियाणवी चुटकलों के जरिये  भीड़ को खूब गुद गुदाया।
गजेंद्र फौगाट ने मेरे फोड़े करम बिचौले नै, झाल डाट तूं मनै बता,तनै कौन कहवे बहु काले की,मनै देख कै हासै, देख कै खासे, बलम मेरा यो जेठया, उडय़ा- उडय़ा यो कबुतर ,मेरे ढूंगे पर चड़ गैया। लेके पहला -पहला प्यार, भरके आंखों में फुहार,ओ मेरी गुड़ की डली,तेरी लयादूं पजेब,राजी बोल जया।दिल चोरी साडा हो गया,की करिए की करिये,मेरा रंग दे बसंती चोला सरीखे गीतो पर माहौल को खुशनुमा बना दिया। हजारों की संख्या में उपस्थित दर्शकों ने गजेंद्र फौगाट को मनोहारी और प्रेरणादायक गीतो पर सम्मान दिया।
उन्होंने कार्यक्रम के अंत में नवरात्र शुरू होने के उपलक्ष्य में चलो बुलावा आया है,माता ने बुलाया है, भक्ति गीत के बोल देकर कार्यक्रम को धार्मिक मय कर दिया।
इससे पहले मालदीव के कलाकारों ने गीत और डांस की प्रस्तुति से दर्शकों को कार्यक्रम से जोड़े रखा। मालदीव देश के कलाकारों ने हिंदी गीतों पर जमकर नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी। कलाकारों ने जब कोई राह ना पाए, मेरे संग आए, मेरी दोस्ती-मेरा प्यार,तेरे  रश्के कवर आदि गीतों की प्रस्तुति देकर दर्शकों की तालियां बटोरी। उन्होंने धडक़ने चुराने लगे जरा जरा,वदन पे सितारे लपेटे हुए सहित अन्य गीतों पर नृत्य की शानदार प्रस्तुतियां देकर दर्शकों का मन मोह लिया।
 इस मौके पर सेवा भारती संगठन के राष्ट्रीय संगठन मंत्री सुधीर जी, पराग अभ्यंकर जी, आवास बोर्ड हरियाणा के पूर्व चेयरमैन और बीजेपी महासंपर्क अभियान के अध्यक्ष संदीप जोशी सहित गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *