एक दिलचस्प विचार ने रोलैंड एमेरिच को साइंस—फिक्शन ‘मूनफॉल’ बनाने के लिए प्रेरित किया

गोरे रंग को सौंदर्य का आदर्शतम गुण माना जाता है, लेकिन सोचिए उस वक्त क्या होगा, जब वही गौर वर्ण मानव जाति के विनाश का कारण बन जाए? क्या होगा अगर चंद्रमा किसी दिन ठीक पृथ्वी के करीब आ जाए? ऐसी कई कल्पनाएं इंसानी दिमाग में करवट ले सकती हैं, लेकिन क्या यह सब वाकई संभव है! हालीवुड में इन कल्पनाओं पर अनगिनत फिल्में बनी हैं। लेकिन, ‘इंडिपेंडेंस डे’, ‘द डे आफ्टर टुमारो’, ‘1000 बीसी’ जैसी फिल्मों के कामयाब डायरेक्टर रोलैंड एमेरिच अपनी अगली साइंस-फिक्शन या यूं कहें कि साइंस-डिजास्टर फिल्म ‘मूनफॉल’ में कुछ अलग तरह की कल्पनाओं को दिखाने जा रहे हैं। ‘मूनफॉल’ 11 फरवरी को रिलीज होगी।
यह फिल्म एक पूर्व अंतरिक्ष यात्री और नासा में काम करने वाले साइंटिस्ट (हाले बेरी) पर केंद्रित है। उसे अपने अंतरिक्ष यात्री साथी (जॉन ब्रैडली) के साथ मिलकर पृथ्वी को भारी आपदा से बचाना है। यह पृथ्वी के लिए आखिरी मौका है, क्योंकि चंद्रमा का ग्रह के साथ घातक टक्कर होने ही वाली है और वह अपने रास्ते में है। हाले बेरी को कहीं से कोई मदद नहीं मिल रही। सर्वनाश निकट है। पूरी फिल्म इसी के इर्द—गिर्द है। फिल्म में काफी रोमांच है।
लेकिन,अहम सवाल यह है कि आखिर रोलैंड एमेरिच को ऐसी साइंस—फिक्शन साहसिक फिल्म बनाने के लिए किस विचार ने प्रेरित किया। इसकी वजअ यह है कि रोलैंड एमेरिच ने हमेशा क्लासिक ब्लॉकबस्टर फिल्में ही बनाई हैं जिन्होंने दर्शकों का नॉनस्टॉप मनोरंजन किया है। लेकिन, अपनी इस अगली फिल्म के साथ वह कई तरह की चीजों और कल्पनाओं को कुछ अलग ही स्तर पर ले जाते नजर आ रहे हैं। रोलैंड एमेरिच कहते हैं, ‘चंद्रमा जैसी कोई वस्तु पृथ्वी पर गिर जाए तो क्या होगा, यह दिलचस्प विचार ही मुझे ही मुझे इस फिल्म को बनाने के लिए प्रेरित और उत्साहित किया।’ लेकिन, उन्होंने इस विचार को किस तरह विस्तार दिया? पूछने पर वह कहती हैं, ‘मैं उन पात्रों को जीवंत बनाने की चुनौती के लिए बेहद रोमांचित थी, जो हमारे ग्रह को बचाने के लिए चंद्रमा के लिए मिशन की शुरुआत करते हैं। साथ ही उनका परिवार, जो पीछे रहकर अपने जीवित रहने के लिए संघर्ष करते हैं, क्योंकि चंद्रमा रूपी प्रलय पृथ्वी से टकराने के लिए तैयार है।’
हाले बेरी को इस भूमिका के लिए साइन करने के बारे में वह कहती हैं, ‘फिल्म की केंद्रीय भूमिका में एक महिला है जो एक पुरुष की दुनिया में संघर्ष करते हुए जीवित है। फाउलर बहुत इच्छाधारी है। मुझे इस तरह की महिलाओं और किरदारों से प्यार है, क्योंकि वह अपने काम में मजबूत हैं, लेकिन वह एक मां भी हैं। हाले से बेहतर कलाकार इस भूमिका के लिए कोई हो ही नहीं सकती थी।’
जॉन विक ने अपने चरित्र के बारे में एक छोटे से रहस्य का खुलासा करते हुए कहा, ‘यह हिस्सा शुरू में एक पुरुष अभिनेता के लिए था। लेकिन, रोलेंड को यह महसूस करने का श्रेय दिया जाना चाहिए कि यह एक महिला चरित्र भी हो सकता है और फिल्म में इसका प्रभाव भी अलग से दिख रहा है।’
इंसिडियस और कॉन्ज्यूरिंग जैसी डरावनी फ्रेंचाइजी का चेहरा, अभिनेता पैट्रिक विल्सन भी अब एक और लोकप्रिय शैली में गोता लगाने की उम्मीद कर रहे हैं। पैट्रिक कहते हैं, ‘यह पसंदीदा निर्देशक के साथ फिर से काम करने का अनूठा मौका था, क्योंकि यह एक ऐसी शैली की फिल्म है, जिसमें पहले शायद ही मैं कभी हिस्सा रहा। इसी खासियत ने मुझे इस फिल्म के लिए आकर्षित किया। दरअसल, ‘मूनफॉल’ एक महान अवधारणा है। मुझे साइंस-फिक्शन पसंद है और मुझे ऐसी फिल्म में काम करने का मौका मिला, मेरे लिए यह एक बड़ा बोनस है।’
‘गेम ऑफ थ्रोन्स’ में सैमवेल टैली की भूमिका निभाकर रोतोंरात सुर्खियां बटोरने वाले ब्रिटिश स्टार जॉन ब्रैडली भी अपनी आगामी फिल्म में काम करके खुश हैं। जॉन को इस फिल्म में काम करने के लिए जिस चीज ने आकर्षित किया, वह उनके चरित्र की विशिष्टता थी। उनका कहना है कि ‘हाउसमैन’ मेरे द्वारा निभाए गए सबसे मज़ेदार पात्रों में से एक साबित होगा, यह मेरा दावा है।’
पीवीआर पिक्चर्स और एमवीपी एंटरटेनमेंट की संयुक्त फिल्म ‘मूनफॉल’ रोलांड एमेरिच द्वारा निर्देशित है, जिसमें हाले बेरी, पैट्रिक विल्सन, जॉन ब्रैडली, चार्ली प्लमर, माइकल पेना और डोनाल्ड सदरलैंड जैसे कलाकार शामिल हैं। फिल्म 11 फरवरी, 2022 को रिलीज़ होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *