पोलैंड, हंगरी, बेलारूस, रोमानिया, यूक्रेन, रूस आदि सरकारों से तुरंत बातकर भारतीयों के लिए बॉर्डर खुलवाए सरकार – कृष्ण अत्री

यूक्रेन में भारतीय छात्र नवीन की मौत पर एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री मोदी का पुतला फूंक कर किया प्रदर्शन

फ़रीदाबाद। आज एनएसयूआई फ़रीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने यूक्रेन में हुई छात्र नवीन की मौत के विरोध में प्रदर्शन किया और प्रदर्शन करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका। प्रदर्शनकारियों छात्रों ने प्रधानमंत्री मोदी मुर्दाबाद के नारे लगाए तथा यूक्रेन में फंसे हुए भारतीय नागरिकों को सुरक्षित वापिस बुलाने की मांग की। इस प्रदर्शन का नेतृत्व एनएसयूआई हरियाणा के पूर्व प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने किया।इस दौरान एनएसयूआई हरियाणा के पूर्व प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि यूक्रेन में भारतीय छात्र के साथ हुई दुःखद घटना से पूरे देश में शोक की लहर है। जब कीव में कर्फ़्यू है, बसें, ट्रेनें आदि सब बंद हैं और बाहर लगातार युद्ध का माहौल है, तब ‘फौरन शहर छोड़िए’ जैसी एडवाइजरी छात्रों का मनोबल तोड़ने वाली है। यह वक्त यूक्रेन से सटे सभी देशों को भारत की ताकत का अहसास कराने का है। सरकार को तत्काल बॉर्डर स्टेट्स से संपर्क कर सभी छात्रों को सकुशल वापिस भारत लाने का रणनीतिक रोड मैप बनाना होगा। कृष्ण अत्री ने भारत सरकार से आग्रह किया कि पोलैंड, हंगरी, बेलारूस, रोमानिया, यूक्रेन, रूस आदि सरकारों से तुरंत बातकर भारतीयों के लिए बॉर्डर खुलवाये जाएँ और सभी को सुरक्षित वापस लाया जाए। इस काम में एक पल की भी देरी घातक साबित हो सकती है।कृष्ण अत्री ने कहा कि यूक्रेन सीमा से सटे कुछ देश हमारे छात्रों को एंट्री देने से झिझक रहे हैं। जबकि, पोलैंड समेत इन देशों से भारत के आर्थिक रिश्ते हैं। यूक्रेन से सभी भारतीयों को सुरक्षित वापस लाने के लिये केंद्र सरकार से त्वरित कार्रवाई करने की मांग करते हुए कहा कि भारत सरकार ये घोषित करे कि इन सभी देशों से हमारे भविष्य के रिश्ते आज की उनकी संवेदनशीलता पर निर्भर होंगे। दिल्ली में सरकार इन सभी देशों के राजदूतों को बुला यह बात स्पष्ट करे।वहीं एनएसयूआई फ़रीदाबाद के पूर्व जिला उपाध्यक्ष किशन चौहान ने यूक्रेन में फंसे भारतीयों की सुरक्षा को लेकर कहा कि सरकार भ्रम की स्थिति से बाहर निकले और क्या करे, क्या न करे छोड़कर भारतीय नागरिकों को तुरंत यूक्रेन से निकालने के लिए प्रभावशाली कदम उठाए। अगर सरकार समय रहते ठोस कदम उठाती तो भारतीय नागरिकों को ऐसी विकट परिस्थितियों का सामना नहीं करना पड़ता।इस मौके पर एनएसयूआई फ़रीदाबाद पूर्व जिला उपाध्यक्ष  किशन चौहान, छात्र नेता देव चौधरी, शिवम ओझा, साहिल तंवर, सुमित तंवर, विजय, सागर, अमन, रोनी चौधरी, हरकेश चौधरी, प्रदीप, मनीष, हर्ष रावत, अंकित शर्मा, मनिंदर गुलिया, सागर तेवतिया, गौरव यादव, अश्वनी आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *