पत्नी द्वारा प्रेमी के साथ मिलकर पति को गोली मारने के मामले में आरोपी प्रेमी का दोस्त गिरफ्तार

फरीदाबाद: पुलिस उपायुक्त मुकेश मल्होत्रा द्वारा जघन्य अपराधों में अपराधियों पर जल्द से जल्द शिकंजा कसने के दिशा निर्देश के तहत कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच 85 की टीम ने 10 सप्ताह पहले पुलिस थाना खेड़ी पुल एरिया में पत्नी द्वारा प्रेमी के साथ मिलकर पति पर गोली चलाने के मामले में शामिल तीसरे और आखिरी आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम सुल्तान है जो उत्तर प्रदेश के अमेठी क्षेत्र के तिलवई गांव का रहने वाला है और फिलहाल खेड़ी पुल के पदमनगर एरिया में रह रहा था। क्राइम ब्रांच की टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर आरोपी को पुलिस थाना खेड़ी पुल एरिया से गिरफ्तार कर लिया।

आपको बता दें कि करीब 10 दिन पहले खेड़ी पुल थाना क्षेत्र के बुढ़ैना गांव के रहने वाले राजेश को उसकी पत्नी व पत्नी के प्रेमी द्वारा सिर में गोली मार दी गई थी परंतु उसमें राजेश की जान बच गई थी। राजेश ने बताया कि उसकी पत्नी कंचन और आरोपी मोनू के नाजायज संबंध हैं इसीलिए मोनू ने उसे मारने का प्रयास किया था। पुलिस को दी शिकायत के अनुसार पीड़ित राजेश ने बताया की दिनांक 25 मार्च को रात करीब 9:00 बजे जब वह तिगांव रोड पर जा रहा था तो दो बाइक सवारों ने उसके ऊपर गोली चला दी जो उसके दाहिने कुल्ले को छूकर निकल गई। इसके पश्चात उसी रात करीब 1:00 बजे आरोपी मोनू उसके घर में घुसा और उसने राजेश के सिर पर कट्टा तान दिया और उसे धमकी दी कि यदि वह उसके और कंचन के बीच आएगा तो वह उसे जान से मार देगा। राजेश ने जब उसका विरोध किया तो आरोपी मोनू ने राजेश के सिर में गोली मार दी। गोली मारने के पश्चात आरोपी मोटरसाइकिल पर सवार होकर भाग गए जिसके पश्चात राजेश को अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां पर उसकी जान बच गई। इस मामले में पीड़ित की शिकायत के आधार पर दिनांक 28 मार्च को पुलिस थाना खेड़ीपुल में हत्या के प्रयास, अवैध हथियार सहित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू की गई। पुलिस थाना खेड़ीपुल की टीम ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए अगले ही दिन आरोपित पत्नी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया तथा उसी दिन आरोपी मोनू को गिरफ्तार करके 1 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें आरोपी के कब्जे से एक देशी कट्टा तथा दो जिंदा कारतूस बरामद किए गए।

इस मामले में आगे की कार्रवाई क्राइम ब्रांच 85 को सौंपी गई जिसने कार्रवाई करते हुए मामले में शामिल तीसरे आरोपी सुल्तान को भी गिरफ्तार कर लिया। आरोपी सुल्तान ने बताया कि उसकी दोस्ती मोनू के साथ तीन-चार दिन पहले ही हुई थी जिसके पश्चात उसने वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी के खिलाफ इससे पहले चोरी की धाराओं के तहत दो मुकदमे दर्ज हैं। वारदात को अंजाम देने से पहले पुलिस थाना ओल्ड एरिया से एक मोटरसाइकिल चोरी की थी और चोरी की उसी मोटरसाइकिल पर सवार होकर वह राजेश के घर गए थे जहां मोनू ने राजेश के सिर में गोली मार दी थी। पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *