पूर्व विधायक ललित नागर ने मात्र 101 रूपए देकर किया बेटी का विवाह

पूर्व विधायक ने गुर्जर समाज के साधन सम्पन्न परिवारों को दिया अनोखा संदेश
फरीदाबाद। दिल्ली एनसीआर के लगते क्षेत्रों में गुर्जर समाज की शादियां अक्सर दान-दहेज को लेकर चर्चा का विषय बनी रहती है लेकिन फरीदाबाद जिले की तिगांव विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के पूर्व विधायक ललित नागर ने अपनी बेटी की शादी बिना दान दहेज के मात्र 101 रूपए से करके समाज में एक नया संदेश देने का काम किया है। इस विवाह समारोह की चर्चा दिल्ली से लेकर फरीदाबाद, पलवल, होडल सहित एनसीआर के गुर्जर समाज में जमकर हो रही है। गौरतलब है कि सोमवार की रात्रि पूर्व विधायक ललित नागर की सुपुत्री आयुषी की शादी नोएडा के पूर्व विधायक सत्यवीर गुर्जर के पुत्र हिमालय से सम्पन्न हुई। आयुषी दिल्ली यूनिवर्सिटी टॉपर रही है और सुप्रीमकोर्ट की एडवोकेट है, जबकि हिमालय विदेश से पढ़ाई करके कंसट्रक्शन का काम करते है, जबकि उनके पिता सत्यवीर गुर्जर दादरी व नोएडा से दो बार विधायक रह चुके है। पूर्व विधायक ललित नागर ने बताया कि वह शुरू से ही शादियों में दान दहेज लेने व देने के खिलाफ रहे है, अक्सर सोशल मीडिया के माध्यम से वह समाज को भी यही संदेश देते रहे है। उन्होंने कहा कि इस विवाह में वर पक्ष ने लोगों ने पहले ही दान दहेज, नगदी व गाड़ी इत्यादि लेने से मना कर दिया था और उन्होंने भी विवाह की सभी रस्मों में 101 रूपए का ही लेन-देन किया। पूर्व विधायक ललित नागर ने बताया कि यहां तक कि शादी समारोह में आए गणमान्य लोगों द्वारा कन्यादान के रूप में दिए जा रहे मात्र 101 रूपए ही लिए, बाकि रूपए लोगों को वापिस लौटा दिए। इतना ही नहीं बल्कि भात की रस्म के दौरान भी उन्होंने 101 रूपए लिए और मेहमानों से भी वर व वधू को दिए जाने वाले कपड़े व अन्य तरह के उपहारों को भी लेने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य समाज के लोगों को एक प्रेरणा देने का था कि वह शादी ब्याह में व्यर्थ खर्चे करने की बजाए अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दें, जिससे कि वह आत्मनिर्भर बनकर अपना और समाज का भला कर सके। पूर्व विधायक ललित नागर द्वारा बिना दान दहेज के बेटी का विवाह करने की पहल को राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने सराहा और उन्हें बधाई देते हुए हुए कहा कि दान-दहेज एक सामाजिक कुरीति है, जिसका अंत होना चाहिए और पूर्व विधायक ललित नागर ने जो शुरूआत आज की है, उसका समाज के लोगों को भी अनुसरण करना चाहिए। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी ललित नागर की इस पहल को सराहनीय बताते हुए कहा कि ललित नागर और सत्यवीर गुर्जर दोनों ही सुलझे हुए राजनेता है, दोनों के परिवारों ने बिना दहेज व लेन-देन के संबंध बनाकर अपने समाज के लिए बड़ा संदेश दिया है, जिसके लिए यह परिवार बधाई का पात्र है। वहीं केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने इस पहल को गुर्जर समाज के हित में बताते हुए सराहा और उन्हें बधाई देते हुए कहा कि जनप्रतिनिधियों सहित समाज के प्रमुख लोगों को ऐसे अवसरों पर समाज के लिए सकारात्मक संदेश देना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब शादी-विवाह के समारोह में समाज समानता बरतने लगेगा तो फिर अमीर-गरीब सभी एक समान दिखाई देने लगेंगे। इस शादी समारोह में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा, राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा, राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, पूर्व विधानसभा स्पीकर कुलदीप शर्मा, केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह उनकी धर्मपत्नी पूर्व विधायक प्रेमलता, श्रीमती आशा हुड्डा, सांसद रमेश बिधूड़ी, सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया, दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी, उपाध्यक्ष अभिषेक दत्त, विधायक धर्मसिंह छोकर, राव दानसिंह, आफताब अहमद, चिरंजीवी राव, नीरज शर्मा, राजेश नागर, नरेंद्र गुप्ता, पूर्व विधायक करण दलाल, उदयभान, सहित दिल्ली, फरीदाबाद, पलवल व होडल आदि से गुर्जर समाज के साथ-साथ अन्य बिरादरियों के गणमान्य लोगों ने शामिल होकर वर-वधू को आर्शीवाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *