महिलाओं के साथ होने वाले अपराध और साइबर अपराध को लेकर फरीदाबाद पुलिस ने अग्रवाल कॉलेज के बच्चों के साथ वार्ता कर किया जागरुक

फरीदाबाद- पुलिस कमिश्नर श्री विकास कुमार अरोड़ा के निर्देश पर वरिष्ठ नागरिक सेल इंचार्ज इंस्पेक्टर सविता रानी और साइबर थाना प्रबंधक इंस्पेक्टर बसंत कुमार ने अग्रवाल कॉलेज के साथ संयुक्त रुप से वार्ता कर बच्चों को महिलाओं के साथ होने वाले क्राइम और साइबर क्राइम को लेकर जागरुक किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि आज 12 अप्रैल 2022 को महिलाओं के साथ होने वाले अपराध और साइबर क्राइम के प्रति जागरुक करने की संयुक्त तत्वावधान में एक वार्ता आयोजित की है।

वरिष्ठ नागरिक सेल इंचार्ज इंस्पेक्टर सविता रानी ने बच्चों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिए दुर्गा शक्ति एप, महिला हेल्पलाइन नंबर 1091 और डायल 112 की सुविधा पहले से ही मुहैया करवाई हुई है। उन्होने कहा की महिलाओं को अपने अधिकारों की जानकारी होना बहुत जरूरी है। हर जिले में DALSA(जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण) स्थापित की गई है जिनके माध्यम से किसी भी प्रकार की कानूनी सहायता ली जा सकती है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उन्हें किसी भी प्रकार से डरने की जरूरत नहीं है। पुलिस प्रशासन द्वारा इस प्रकार के अपराधों से पीड़ित महिलाओं को संरक्षण दिया जाएगा। महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस थानों के साथ-साथ दुर्गा शक्ति का गठन किया गया है जो अपराधियों के विरुद्ध महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करने में शत प्रतिशत योगदान देगी। हेल्पलाइन नंबर और सभी एसएचओ व थानों के फोन नंबर और ईमेल आईडी सांझा किए।

उन्होने बताया कि फरीदाबाद पुलिस ने वरिष्ठ नागरिक हेल्पलाइन नंबर 7290010000 शुरू किया गया है। इसके अलावा वरिष्ठ नागरिक के पंजीकरण के लिए फरीदाबाद पुलिस की वेब साइट www.faridabad.haryanapolice.gov.in पर लिंक दिया गया है। जिसे क्लिक करने पर गूगल फार्म खुलता है। फार्म में मांगी गई जानकारी भरने उपरांत वरिष्ठ नागरिक अपना पंजीकरण पूरा कर सकते हैं। परेशानी व प्रताड़ना की हालत में तत्काल सहयोग के लिए वरिष्ठ नागरिक हेल्पलाइन 7290010000 और पुलिस कंट्रोल रूम में 112 नंबर पर कॉल कर सकते हैं

साइबर थाना प्रबंधक इंस्पेक्टर बसंत कुमार ने बच्चों को साईबर ठगी के प्रती जागरुक किया। उन्होने बताया कि आये दिन कुछ न कुछ नए तरीके से लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं। मोबाईल फोन में फेक एप डाउनलोड कराने के साथ इंटरनेट और सोशल मीडिया पर फेक न्यूज चलाकर एवं फेक पोस्ट अपलोड कर और फर्जी वाट्सएप्प मैसेज और फेक कस्टमर कॉल के जरीये एवं तरह-तरह की सरकारी अथवा निजी संस्थानों में नौकरी का लोक-लुभावन झाँसा देकर लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं। किसी भी फर्जी लिंक पर क्लिक ना करें, इससे आपका पीसी या मोबाईल हैक हो सकता है।

साईबर अपराधी पैसों की ठगी के साथ-साथ फेसबुक, वाट्सएप्प व अन्य सोशलमीडिया प्लेटफार्म पर पोस्ट किये हुए तस्वीरों से छेड़छाड़ कर महिलाओं को भी ब्लैकमेल करते हैं। लोगों को एटीएम बंद हो जाने का झाँसा देकर उनके खाते से जुड़ी सभी जानकारी हासिल करने उपरांत खाताधारकों के बैंक खाते से पैसे उड़ा ले जाते हैं। अपने पर्सनल लैपटॉप या कम्प्यूटर से ही नेटबैंकिंग का इस्तेमाल करें। अपने कम्प्यूटर और मोबाईल के सुरक्षा संबंधी सॉफ्टवेयर व एप्लीकेशन को अप-टू-डेट रखें। किसी प्रकार का साईबर अपराध होने पर साईबर क्राइम यूनिट, हरियाणा के नंबर 1930 पर एवं साईबर अपराध थाना, फरीदाबाद में जाकर तुरंत सूचना दें। इसके अलावा साईबर अपराध की शिकायत के लिए ऑनलाईन वेबसाइट www.cybercrime.gov.in पर शिकायत करें।

मीटिंग में पुलिस की तरफ से इंस्पेक्टर सविता रानी, इंस्पेक्टर बसंत कुमार एवं उनकी टीम उपस्थित थी। अग्रवाल महाविद्यालय प्राचार्य एवं कार्यक्रम संरक्षक डॉ कांत गुप्ता,डॉ ऊषा अग्रवाल,डॉक्टर शोभना गोयल, श्रीमती अनीता वशिष्ठ एवं कॉलेज के बच्चे के प्रयासों से यह कार्यक्रम सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *