जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री ने निरीक्षण किया

ग्लोबल हरियाणा न्यूज़ / फरीदाबाद : जिला बाल कल्याण परिषद नूंह द्वारा मेवात के लगभग दो दर्जन गांवों में चल रहे कौशल विकास सिलाई केंद्रों पर जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री ने मंगलवार को निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान आधा दर्जन सिलाई केंद्रों का भ्रमण किया गया जिसमें सिलाई केंद्रों पर पाई गई खामियों को दूर करने के साथ- साथ वहां पर सिलाई सीख रहे बच्चों को नए-नए गुर सीखने के लिए प्रेरित किया। सिलाई केंद्रों पर बच्चों को सिलाई सिखाने वाली अध्यापिकाओ के साथ साथ सीखने वाले बच्चों को संबोधित करते हुए जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री  ने कहा कि कौशल विकास केंद्र बच्चों में छिपे हूनर को निकालने के लिए विभाग  द्वारा चलाए जा रहे हैं । जिससे कढ़ाई -बुनाई व सिलाई में बच्चे अपने अंदर छिपे हूनर को बाहर लाकर अपने आप को बेहतर साबित कर सके। इतना ही नहीं जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री ने कहा कि लड़कियां इन कौशल विकास केंद्रों पर सिलाई और कटाई सीखकर अपने आप को आर्थिक रूप से भी मजबूत कर सकती हैं। जिससे अपना ही नहीं बल्कि अपने ससुराल के घर को भी आर्थिक रूप से मजबूर कर सकती हैं। सेंटरो के निरीक्षण के दौरान कमलेश शास्त्री ने अध्यापिकाओ को कहा कि सैंटरो पर कम से कम 25 छात्राओं की संख्या होनी चाहिए, अगर किसी सेंटर पर बच्चों की संख्या कम है तो उसे सुचारू रूप से चलाने के लिए बच्चों की संख्या पूरी की जाए। इतना ही नहीं उन्होंने बच्चों को भी संबोधित करते हुए कहा कि 6 महीने के अपने कोर्स में ज्यादा से ज्यादा समय देकर सेंटर पर अपने हुनर से अपने आप को बेहतर  साबित करें। उन्होंने कहा कि जिले के गांव में चल रहे कौशल विकास केंद्रो पर सभी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी । इतना ही नहीं जो ट्रेनर सेंटर समय पर नहीं पहुंच रही हैं, या उनके सेंटर पर लड़कियों की संख्या कम है । उनके लिए नोटिस देकर जवाब मांगा जाएगा  । मंगलवार को जिले के घासेड़ा, इंद्री, उदाका, आटा , नमक फिरोजपुर लगभग दर्जन भर गांव में चल रहे कौशल विकास केंद्रों का निरीक्षण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *