मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना का शुभारंभ

ग्लोबल हरियाणा न्यूज़ /फरीदाबाद : 31अगस्त। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने पंचकूला से विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना का शुभारंभ किया।उन्होंने प्रदेश के सभी जिलों के अधिकारियों को यह योजना किस प्रकार लागू की जानी है, के बारे में विस्तार से जानकारी दी।विडियो कान्फ्रेंस के दौरान फरीदाबाद मंडल आयुक्त डॉ जी अनुपमा, उपायुक्त अतुल द्विवेदी के साथ, बल्लभगढ़ के एसडीएम त्रिलोक चंद सहित कई विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।सी एम श्री मनोहर लाल ने इस योजना का पोर्टल भी लाॅंच किया जिसमें योजना के बारे में पूरी जानकारी दी गई है। उन्होंने इस योजना का ब्रोशर भी जारी किया।मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने विस्तार से बताया कि इस योजना के माध्यम से प्रदेश के हर गरीब परिवार को 6 हजार रूपए सालाना का लाभ योजनाओं के माध्यम से  दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की किसान स्मृद्धि योजना से प्रेरित होकर उन्होंने प्रदेश में  इस अनुठी योजना की घोषणा की थी। उन्होंने बताया कि योजना का लाभ उन परिवारों को मिलेगा जिनकी वार्षिक आय 1लाख 80 हजार रूपए तथा जिन किसानों के पास पांच एकड़ तक भूमि है। इसका तात्पर्य है कि 15 हजार रूपए तक मासिक आय वाले गरीब परिवारों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।श्री मनोहर लाल ने बताया कि शुक्रवार से प्रदेश में मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना का लाभ देना शुरू कर दिया गया है और जो गरीब परिवार इस योजना के लिए पात्रता रखते हैं। उन्हें एक फार्म दिया जाएगा जिसमें उन्हें यह लिखकर देना है, कि वे मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना से मिलने वाली 6 हजार रूपए की राशि में से किस-किस योजना का प्रीमियम भरवाना चाहते हैं। उसके बाद जो पैसा बचेगा वह परिवार के मुखिया के जन-धन खाते में जमा करवा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि परिवार की आय के बारे में परिवार के मुखिया की सेल्फ डेक्लेरेशन ही मान्य होगी और यदि बाद में किसी स्टेज पर वह डेक्लेरेशन गलत पाई जाती है, तो नियमानुसार मुखिया के खिलाफ कार्यवाही भी  की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना के माध्यम से 6 हजार रूप्ए की सहायता राशि देकर हम अपने प्रदेश के गरीब परिवारों को पूरी सुरक्षा देना चाहते हैं,  ताकि परिवार में कोई अनहोनी होने पर उस परिवार को केंद्र सरकार की उन योजनाओं के अंतर्गत बीमा राशि मिल सके।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए पात्र परिवार अंतोदय सरल केंद्र, सरल केंद्र तथा अटल सेवा केंद्रों पर जाकर वह फार्म प्राप्त करके वहीं पर भरकर दे सकते हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में लगभग 20 लाख परिवारों को इस योजना का लाभ होने का अनुमान है।श्री मनोहर लाल ने बताया कि प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के अंतर्गत लाभार्थी  को जो 330 रूपए का वार्षिक प्रीमियम देना होता है। यह राशि मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना से मिलने वाले 6 हजार रूपए में से सरकार भर देगी। इस योजना में लाभार्थी का दो लाख रूपए तक का जीवन बीमा होता है और परिवार के 18 से 50 वर्ष तक के सदस्यों का प्रीमियम अदा किया जा सकता है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा बीमा योजना का लाभ लेने वाले परिवारों का 12 रूपए प्रति सदस्य वार्षिक का प्रीमियम भी राज्य सरकार उस 6 हजार रूप्ए में से भर देगी। इस योजना में परिवार के 18 से 70 वर्ष तक आयु के सदस्यों का प्रीमियम भरा जा सकता है।मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल जी ने कहा कि यही नहीं, प्रधानमंत्री मानधन योजना जैसे किसान मानधन योजना, श्रमिक मानधन योजना, लघु व्यापारी मानधन योजना के लाभपात्रों (परिवार के मुखिया) द्वारा दी जाने वाली अंशदान राशि भी राज्य सरकार उस 6 हजार रूप्ए की राशि में से भर देगी। इस योजना में प्रीमियम की आधी राशि केंद्र सरकार द्वारा भरी जाती है तथा बाकी आधी राशि मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना से भरी जाएगी। मानधन योजना में लाभाथी 60 वर्ष की आयु प्राप्त होने पर 3 हजार रूपए मासिक पेंशन का हकदार होगा और 18 से 40 वर्ष तक के व्यक्ति इस योजना का लाभ ले सकते हैं। इस योजना में  अलग-अलग आयु वर्ग के हिसाब से लाभार्थी को 110 रूपए से लेकर 400 रूपए तक मासिक पेंशन अंशदान भरना होता है जिसमें से आधी राशि केंद्र सरकार देती है और बाकी बची 55 रूप्ए से 200 रूप्ए मासिक की प्रीमियम राशि राज्य सरकार द्वारा उस 6 हजार रूप्ए की राशि में से जमा करवाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने वाले किसान भी अपने प्रीमियम की राशि इस 6 हजार रूपए की राशि से कटवा सकते हैं। इन योजनाओं का प्रीमियम भरने के बाद मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना की 6 हजार रूप्ए की राशि से जो राशि बचेगी वह परिवार के मुखिया के जन-धन खाते में जमा करवा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं का प्रीमियम राज्य सरकार भरेगी और योजनाओं का लाभ गरीब परिवारों के लाभपात्रों को मिलेगा।मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना का लाभ उन नए परिवारों को भी दिया जाएगा जो जिनकी गणना वर्ष 2011 की जनगणना में नहीं हुई है। योजना के पात्र परिवार अटल सेवा केन्द्रों, सरल केन्द्रों, अंत्योदय भवनों व सरकारी कार्यालयों में आवेदन कर सकते है।मुख्यमंत्री ने कहा कि  अगर जरूरत पड़ी तो आवेदन करने के लिए और काउंटर भी स्थापित करवा दिए जाएगें ताकि लोगों को इस योजना का लाभ लेने के लिए किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। उन्होंने यह भी कहा कि कृषि को जोखिम मुक्त व्यवसाय बनाने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लागू की गई है । इस योजना के लागू करने का मुख्य उदेश्य समृद्ध परिवार, सुरक्षित परिवार व सशक्त परिवार की परिकल्पना को सार्थक साबित करना है।उन्होंने कहा कि हरियाणा के हर परिवार का परिवार पहचान पत्र बनाया जाएगा। परिवार पहचान पत्र बनाने के लिए रजिस्ट्रेशन का कार्य शुरू हो चुका है।बाॅक्सउपायुक्त अतुल कुमार द्विवेदी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा शुक्रवार से प्रदेश में मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना शुरू हो चुकी है। जिला में इस योजना के लिए जो परिवार स्वयं को पात्र मानते हैं, वे अपने नजदीकी अटल सेवा केंद्र या सरल केंद्र पर जाकर फार्म लें और उसमें टिक करें कि वे किस-किस योजना का प्रीमियम परिवार स्मृद्धि योजना से मिलने वाली 6 हजार रूप्ए की राशि से भरवाना चाहते हैं। प्रीमियम भरने के बाद जो राशि बचेगी वह परिवार के मुखिया के जन-धन खाते में जमा होगी।उन्होंने कहा कि फ़ार्म में यह भी लिखें कि परिवार का मुखिया कौन है। परिवार के आय के बारे में स्वयं प्रमाण  पत्र भी दें। उपायुक्त ने कहा कि जितनी जल्दी यह फार्म भरकर देंगे, उतनी ही जल्दी आपको मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *