मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद की विकास योजनाओं के लिए 422.85 करोड़ रुपये की राशि जारी की: कृष्णपाल गुर्जर

– मुख्यमंत्री घोषणाओं के तहत घोषित की गई योजनाओं को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए जारी की गई राशी– कहाजितना पैसा वर्तमान सरकार में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद जिला को दिया उतना अब तक किसी सरकार में नहीं मिला– जिला की जनता व जनप्रतिनिधियों की तरफ से मुख्यमंत्री मनोहर लाल का किया धन्यवादफरीदाबाद, 24 फरवरी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद जिला में मुख्यमंत्री घोषणा के तहत घोषित किए गए विकास कार्यों के लिए 422.85 करोड़ रुपये की राशि गुरुवार को रिलिज करने के आदेश जारी कर दिए। इसके साथ ही यह आदेश भी जारी किए हैं कि इन विकास कार्यों को जल्द से जल्द पूरा कर इनकी यूसी जारी किए। मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा दी गई इस सौगात पर केंद्रीय ऊर्जा एवं भारी उद्योग राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने धन्यवाद किया है।केंद्रीय ऊर्जा एवं भारी उद्योग राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अब तक हजारों करोड़ रुपये की राशि फरीदाबाद जिला के विकास के ‌लिए दी है। जितनी राशि वर्तमान सरकार में यहां के विकास कार्यों के  लिए आई है उतनी आज तक पहले किसी भी मुख्यमंत्री व सरकार द्वारा नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि शहर में करवाए गए विकास कार्यों और अब तक दी गई विकास राशि के लिए वह जिला की जनता और जनप्रतिनिधियों की तरफ से धन्यवाद किया है।केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि गुरुवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मुख्यमंत्री घोषणाओं के तहत जो विकास राशि रिलिज की है वह 422.85 करोड़ रुपये की है। उन्होंने बताया कि इन विकास कार्यों में एनआईटी (अर्बन)-86, बड़खल, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, ओल्ड फरीदाबाद, तिगांव विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं। उन्होंने कहा कि आज फरीदाबाद क्षेत्र को स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत शामिल करके विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि शहर के विकास को लेकर लगातार कार्य किए जा रहे हैं।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जितनी भी विकास योजनाओं के लिए यह राशि रिलिज की है उनके कार्य ‌निर्धारित समय में पूरे कर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में लगातार विकास कार्य कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *