एटीएम कार्ड बदलकर महिला के खाते से धोखाधड़ी से पैसे निकालने आरोपी को पड़े महंगे

क्राइम ब्रांच 56 ने आरोपी को किया काबू, 53 की जगह महिला को वापिस लौटाने पड़े 63 हजार रुपए

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच 56 प्रभारी इंस्पेक्टर राकेश की टीम ने धोखाधड़ी के मामले में आरोपी अरुण को गिरफ्तार किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी अरुण उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद का रहने वाला है जिसके खिलाफ दिल्ली तथा गाजियाबाद में इससे पहले धोखाधड़ी के चार मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी ने पुलिस थाना सारण एरिया में एक महिला का एटीएम कार्ड बदलकर उसके खाते से 53 हजार रूपए निकाल लिए थे। महिला ने बताया कि वह एटीएम से पैसे निकालने गई थी जहां पर जब वह ₹500 निकालकर जाने लगी तो आरोपी गाड़ी से उतरकर एटीएम में आया और उसने कहा कि आपकी ट्रांजैक्शन अभी पूरी नहीं हुई है और मदद करने के नाम पर ट्रांजैक्शन पूरी करने के लिए उसने महिला का एटीएम कार्ड लेकर एटीएम मशीन में डाल दिया और उसका पिन पूछ लिया। कार्ड वापिस निकालते समय धोखे से महिला का आईसीआईसीआई का एटीएम रख लिया और महिला को आईसीआईसीआई बैंक का ही दूसरा एटीएम दे दिया।

आरोपी इसके पश्चात महिला का एटीएम लेकर एनआईटी एरिया में आया और वहां से किसी एटीएम से महिला के एटीएम से ₹53000 निकाल लिए। महिला की शिकायत पर थाना सारण में धोखाधड़ी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू की गई। पुलिस जांच में एटीएम के आसपास की सीसीटीवी फुटेज कंगाली गई तो आरोपी जिस गाड़ी में बैठ कर आया था उसके बारे में पुलिस को जानकारी मिली जिसके पश्चात आरोपी की धरपकड़ के लिए पुलिस ने आरोपी के ठिकाने पर दो-तीन बार रेड की परंतु आरोपी जब वहां पर नहीं मिला तो उसे नोटिस दिया गया। पुलिस की गिरफ्तारी से बचने के लिए आरोपी ने 10 फरवरी को कोर्ट में पेश हो गया और महिला से धोखाधड़ी से लिए ₹53000 तथा कोर्ट के आदेश अनुसार 10,000 अतिरिक्त रुपए महिला को लौटाने के पश्चात आरोपी को अग्रिम जमानत दे दी गई। इसके पश्चात मामले की जांच को आगे बढ़ाते हुए क्राइम ब्रांच की टीम ने कल आरोपी को शामिल तफ्तीश कर लिया जिसे चार्जशीट के समय न्यायालय में पेश किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *