सुसाइड नोट लिखकर डिस्कवरी सोसाइटी के टॉप फ्लोर से कूदा दसवीं का छात्र, हुई मौत। मुकदमा दर्ज

डीसीपी सैन्ट्रल, एसीपी सन्ट्रैल थाना प्रबंधक बीपीटीपी व क्राइम ब्रांच के साथ एफएसएल की टीम ने किया घटना स्थल का निरीक्षण ।

माँ के ब्यान पर शिकायत पर डीपीएस प्रशासन व मृतक छात्र को आपत्तिजनक टिप्पणी करके मानसिक रूप से प्रताड़ित करने वाले आरोपी छात्र के विरूद्ध मुकदमा दर्ज, कानूनी प्रक्रिया जारी

फरीदाबादः- बीपीटीपी थाना क्षेत्र के डिस्कवरी सोसाइटी में अपनी माँ के साथ रहने वाला डीपीएस स्कूल के छात्र द्वारा बिल्डिंग के सबसे ऊपरी मंजिल से कूद कर आत्महत्या करने की घटना पर पुलिस ने शिकायत मिलने पर कार्रवाई शुरू कर दी है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने इस बारे में पुलिस को प्राप्त शिकायत के अनुसार, जानकारी देते हुए बताया कि घटना बीपीटीपी थानाक्षेत्र की है। यहाँ डिस्कवरी सोसाइटी में माँ आरती अपने बेटे आरवी के साथ रहती थी। आरती डीपीएस स्कूल में अध्यापिका हैं और मृतक आरवी उसी स्कूल में दसवीं क्लास का छात्र था। पिछले साल स्कूल के दो बच्चों ने आरवी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते थे। इस बात की शिकायत आरवी ने स्कूल प्रशासन से की। किन्तु डीपीएस प्रशासन ने शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की। इस घटना से आहत होकर आरवी डिप्रेशन में चल रहा था। आरवी के मानसिक बीमारी का ईलाज भी चल रहा था। लॉक डाउन होने की वजह से स्कूल बंद होने के कारण आरवी स्कूल नहीं जा रहा था। स्कूल खुलने और मैट्रिक की परीक्षा नजदीक होने पर आरवी ने स्कूल जाना शुरू कर दिया। आरवी मानसिक रूप से प्रताड़ित महसूस करने के कारण विज्ञान विषय के न्यूमेरिकल में स्कूल की एक शिक्षिका से सहयोग करने का निवेदन कर रहा था। किन्तु शिक्षिका ने भी आरवी से कोई सहानूभुति नहीं दिखाई और मां-बेटे दोनों पर फालतू परेशान करने का आरोप लगा टीका टिप्पणी करी। 24 फरवरी की शाम आरवी की माँ आरती घर से बाहर थी। उसी समय उसे फोन आया कि उसका बेटा आरवी सोसायटी के टॉप फ्लोर से कूद गया है और उसे गंभीर चोट लगी है। सोसायटी वाले आरवी को लेकर सेक्टर-7 स्थित मेट्रो हॉस्पिटल जा रहे हैं। आरती बीच रास्ते से ही अस्पताल की ओर चल पड़ी। अस्पताल पहुँचने पर आरती को पता चला कि डॉक्टर ने आरवी को मृत घोषित कर दिया है। मृतक आरवी ने घर पर एक सुसाइड नोट लिख कर छोड़ दिया था। सुसाइड नोट में मृतक ने अपनी मां को बहादुर महिला बताते हुए बच्चों व डीपीएस स्कूल प्रशासन द्वारा उसे प्रताड़ित करने के कारण अपना जीवन समाप्त करना लिखा है।

पुलिस को इस घटना की सुचना मिलते ही डीसीपी सेन्ट्रल मुकेश मल्होत्रा, एसीपी सेन्ट्रल सत्यपाल यादव, क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 के साथ विधि-विज्ञान प्रयोगशाला की टीम घटनास्थल पर पहुँचकर घटना की जानकारी ली व घटना से जुड़े प्रारंभिक साक्ष्य इकट्ठा किया। पुलिस घटना से जुड़ी सभी बिन्दओं की गहनता से जाँच कर रही है कानूनी प्रक्रिया का पालन करती हुई नियमानुसार आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *